Breaking News

चीन की सीटीपिटी हुई गुम्म, आर्मी के बाद ITBP के जवानों ने पूर्वी लद्दाख में दिखाया कमाल, चीन को एक और झटका

एक अंग्रेजी अख़बार में छपी खबर के मुताबिक, आईटीबीपी जवान फुरचुक ला पास (Phuchuk La Pass) से गुजरते हुए ब्लैक टॉप तक पहुंचे। फुरचुक ला पास 4,994 मीटर ऊंचाई पर स्थित है। अब तक आईटीबीपी की तैनाती सिर्फ पेंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर स्थित फिंगर 2 और फिंगर 3 एरिया के पास धान सिंह पोस्ट पर ही हुआ करती थी।


देसवाल ने 23 से 28 अगस्त तक सीमा का दौरा किया और बल की कई चौकियों पर गए। इस दौरान उन्होंने ‘विपरीत परिस्थितियों में साहस का प्रदर्शन करने के लिए’ जवानों की प्रशंसा की। उन्होंने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि बॉर्डर आउटपोस्ट के बीच आवाजाही के लिए उन्हें अतिरिक्त वाहन मुहैया कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अब पूरा जोर सड़क बनाने पर होगा ताकि आवाजाही कि लिए खच्चरों पर निर्भरता सीमित की जा सके।


आईटीबीपी के आईजी (ऑपरेशंस) एम. एस. रावत ने कहा, ‘आईटीबीपी के डीजीपी एस. एस. देसवाल ने पिछले हफ्ते जवानों के साथ छह दिन गुजारे और उन्हें एलएसी पर जिम्मेदारियों के प्रति सतर्क किया। पहली बार हम अच्छी-खासी संख्या में इन चोटियों पर मौजूद हैं।’ आईजी रावत ने भी डीजीपी देसवाल के साथ सीमा पर छह दिन का वक्त गुजारा। उनके साथ आईजी (पर्सोनल) दलजीत चौधरी और आईजी (लेह) दीपम भी थे। पीएलए के पोस्टों के ऊपर चोटियां पहले खाली थीं और उन पर किसी का कब्जा नहीं था। अब हमारे सैनिकों ने भारतीय सीमा की किलेबंदी कर दी है


बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close