Breaking News

चीन ने लगाया भारतीय सेना पर आरोप तो चीन को सेना का जवाब, हमने LAC पार नहीं की, डराने के लिए PLA ने की फायरिंग

सोमवार सात सितंबर की स्थिति पर सेना की तरफ से पहला आधिकारिक बयान जारी किया गया है। सेना की तरफ से कहा गया है, ' सात सितंबर को चीन के पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) जवानों की तरफ से एलएसी के इस तरफ हमारी फॉरवर्ड पोजिशन के करीब आने की कोशिश की गई और जब हमारे जवानों ने रोका तो पीएलए की तरफ से हवाई फायरिंग हुई जिसका मकसद हमारे जवानों को डराना था।'

 सेना ने अपने बयान में आगे कहा है, 'भारत, एलएसी पर डिसइंगेजमेंट और डि-एस्‍कलेशन स्थिति को लेकर प्रतिबद्ध है, चीन स्थिति को भड़काने की कोशिशें कर रहा है।' सेना की तरफ से आगे कहा गया, 'किसी भी स्थिति में इंडियन आर्मी ने एलएसी पार नहीं की और न ही फायरिंग समेत किसी और प्रकार के आक्रामक कदम उठाया है।' सूत्रों की तरफ से सोमवार को पैंगोंग त्‍सो के दक्षिणी हिस्‍से में एक बार फिर से भारत और पीएलए जवानों के बीच हिंसा हुई है।

भारत की सेना ने 29 से 30 अगस्‍त की रात को रेजांग ला-रेचिन ला पर कब्‍जा कर लिया था। सात सितंबर को रेचिन ला पर दोनों देशों के बीच टकराव हुआ है। सेना ने अपने बयान में आगे कहा है, 'भड़काने के बाद भी हमारे जवानों ने संयम रखा और एक परिपक्‍व बर्ताव का प्रदर्शन पूरी जिम्‍मेदारी के साथ किया है।

 हम शांति और स्थिरता को बनाए रखने के पक्षधर हैं लेकिन राष्‍ट्रीय अखंडता और संप्रभुता को हर कीमत पर सुरक्षित रखने के लिए दृढ़ निश्चित हैं।' सेना ने सोमवार की घटना के लिए पूरी तरह से पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) को जिम्‍मेदार ठहराया है। सेना के शब्‍दों में, 'पीएलए की तरफ से समझौतों का लगातार उल्‍लंघन किया जा रहा है और आक्रामक बर्ताव का प्रदर्शन हो रहा है, जबकि इस दिशा में मिलिट्री राजनयिक और राजनीतिक स्‍तर पर बातचीत जारी है।'

बेरोजगार नौकरी से परेशान हो तो सरकार ने आपके लिए 45000 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, 8th/10th पास करे आवेदन, यहाँ क्लिक करें
close